Haryana GK MCQ Questions in Hindi {ऐतिहासिक पृष्ठ भूमि}

Haryana GK MCQ Questions in Hindi
Haryana GK MCQ Questions in Hindi

Haryana GK MCQ Questions in Hindi हेल्लो स्टूडेंट ! अगर आप हरियाणा जीके की तैयारी कर रहे है तो हम आपके लिए ऐतिहासिक पृष्ठ भूमि से सम्बंधित क्वेश्चन लेकर आये हैं| जहाँ पर आपको बहुत सारे Haryana GK MCQ Question मिलेंगे|

Haryana GK MCQ Questions in Hindi

1) ग्यारहवीं शताब्दी के चौहान राजा विग्रहराज चतुर्थ के कितने अभिलेख टोपरा के स्तम्भ पर अंकित है?

A) पाँच
B) चार
C) तीन
D) दो

Answer : C
Description : ग्यारहवीं शताब्दी के चौहान राजा विग्रहराज चतुर्थ के 3 अभिलेख टोपरा के स्तम्भ पर अंकित है। विग्रहराज ने दिल्ली पर अधिकार कर हांसी को जीता। उसका साम्राज्य पंजाब, राजपूताना तथा पश्चिमी उत्तर प्रदेश तक फैला था। इसने शाकंभरी के चौहानों को उत्तर भारत की एक महत्त्वपूर्ण शक्ति बना दिया था। वह लेखक भी था। उसने ‘हरिकेल’ जैसा नाटक भी लिखा था।

2) 19वीं सदी में हरियाणा में मुसलमानों के संदर्भ में निम्न कथनों पर विचार कीजिए-

(i) 19वीं सदी में हरियाणा में 28% मुसलमान थे, जो अनेक जातियों में विभाजित थे।
(ii) मुसलमानों में गुड़गाँव के मेव कृषक प्रमुख थे।
(iii) रोहतक, हिसार और करनाल जिलों के मुसलमान राँघड़ कहलाते थे।
(iv) ये राँघड़ मूलतः राजपूत थे, जो बाद में मुसलमान बन गए।

उपर्युक्त कथनों में से कौन-से कथन सही हैं?

A) (i) और (iv)
B) (i), (iii) और (iv)
C) (i), (ii) और (iii)
D) (i), (ii), (iii) और (iv)

Answer : D
Description : (1) 19वीं सदी में हरियाणा में 28% मुस्लिम थे, जो अनेक जातियों में बँटे थे।
(2) गुड़गाँव के मेवाती मुस्लिम कृषक थे।
(3) रोहतक, हिसार और करनाल जिलों के मुसलमान रांघड़ थे।
(4) ये रांघड़ मूलतः राजपूत थे, जो बाद में मुस्लिम बन थे।

3) निम्न में से किस ग्रन्थ में ‘रोहतक’ का उल्लेख मिलता हैं?

A) दिव्यावदान
B) मज्झिमनिकाय
C) नकुल दिग्विजय
D) कथाकोश

Answer : C
Description : ‘नकुल दिग्विजय’ नामक ग्रन्थ में ‘रोहतक’ का उल्लेख मिलता है। रोहतक की स्थापना एक पवांर राजपूत राजा रोहतास द्वारा की गई थी। यह प्राचीन नगर है। इसका उल्लेख महाभारत सभापर्व में प्रसंग नकुल की पश्चिम दिशा की दिग्विजय में है। अब यह हरियाणा राज्य का एक शहर है।

4) तोमर शासन काल की जानकारी किस ग्रन्थ में प्राप्त होती हैं?

A) यशस्तिलक चम्पू
B) हर्षचरित
C) राजतरंगिणी
D) कथाकोश

Answer : A
Description : तोमर शासन काल की जानकारी ‘यशस्तिलक चम्पू’ नामक ग्रन्थ से प्राप्त होती है। ये उत्तर भारत का एक क्षत्रिय राजपूत राजवंश था। तोमरों ने ही दिल्ली की स्थापना दिहिलिका के नाम से की थी। दिल्ली पर विक्रम ने 10वीं से 11वीं शताब्दी तक शासन किया। इनकी एक शाखा राजस्थान की तरफ है, जिसने जयपुर के आस-पास के क्षेत्रों पर बहुत समय तक शासन किया। दूसरी शाखा ग्वालियर पर अधिकार कर 150 वर्षों तक शासन किया।

5) 1530 ई. में मण्ढार राजपूतों के नेता मोहन सिंह की सेना ने किसे पराजित किया?

A) तरसम बेग
B) नौरंगबेग
C) अलीकुली हमदान
D) ये सभी

Answer : C
Description : मोहन सिंह मण्ढार की रियासत कैथल के परगने मंढार में थी। वह बहुत ही लोकप्रिय राजा था। इसने 1530 में मुगलों के खिलाफ बगावत कर दी थी। यह लम्बे समय तक मुगलों को चुनौती देता रहा। यह हरियाणा के तत्कालीन लोकप्रिय राजाओं में से एक था।

6) निम्न में से कौन-सा कथन सही नहीं है?

A) शम्सूद्दीन लुहारु का नवाब था
B) शम्सुद्दीन और दिल्ली के रेजिडेण्ट फ्रेजर में शत्रुता थी
C) शम्सुद्दीन ने अन्या नामक शिकारी से फ्रेजर की हत्या करवा दी
D) अंग्रेजों के भय से शम्सुद्दीन ने विष खाकर आत्महत्या कर ली।

Answer : D
Description : शम्सुद्दीन, लुहाना का नवाब 1827 ई. में बना, लेकिन इसका शासन अधिक समय तक नहीं चल पाया। शम्मुद्दीन और दिल्ली के रेजिडेण्ट फ्रेजर की शत्रुता थी, जिससे इसने अन्या नामक शिकारी से फ्रेजर की हत्या करवा दी। 1935 में इस षड्यंत्र के लिए अंग्रेजों ने उसे उसके पद से हटा दिया।

7) 1680 ई. में राजाराम और उसके भतीजे चूड़ामन के नेतृत्व में जाट विद्रोह का केन्द्र था।

A) सिनसिनी एवं सौंधी
B) मथुरा एवं मेवात
C) होडल एवं पलवल
D) दिल्ली एवं आगरा

Answer : A
Description : सिनसिनी एवं सौंधी जाटों के शक्ति के प्रमुख केन्द्र थे। सिनसिनी का दुर्ग घने जंगलों तथा दलदलों से घिरे एक स्थान पर था। 1680 ई. में राजाराम और उसके भतीजे चूड़ामन के नेतृत्व में जाट एकत्रित थे। इनके अन्तर्गत केवल 30 गाँव थे। 1688 में बिशनसिंह ने सिनसिनी पर अधिकार कर लिया।

8) निम्न में से किस स्थान से समुद्रगुप्त के सिक्के प्राप्त हुए हैं?

A) हाँसी
B) टोपरा
C) धुन
D) मीताथल

Answer : D
Description : मीताथल से समुद्रगुप्त के सिक्के प्राप्त हुए हैं। चन्द्रगुप्त ने अपने जीवन काल में ही अपने पुत्र समुद्रगुप्त को शासन सौंप दिया था। समुद्रगुप्त का साम्राज्य पश्चिम में गांधार से लेकर पूर्व में असोम तक तथा उत्तर में हिमालय के कीर्तिपुर जनपद से लेकर दक्षिण में सिंहल प्रदेश तक फैला हुआ था। वह वैदिक धर्म का अनुयायी था।

9) निम्न में से किस ग्रन्थ में हरियाणा के बारे में उल्लेख मिलता है?

A) भद्रबाहुचरित एवं कथाकोश
B) दिव्यावदान एवं मज्झिमनिकाय
C) हर्षचरित एवं राजतरंगिणी
D) उपर्युक्त सभी

Answer : D
Description : हरियाणा की धरती पर अनेकों ऐतिहासिक कार्य हुए हैं, चाहे वह महाभारत की लड़ाई हो या श्रीकृष्ण द्वारा अर्जुन को श्रीमदभगवदगीता का उपदेश देनो हो। इस भूमि का उल्लेख गीता के अलावा भद्रबाहुचरित, कथाकोष, दिव्यावदान, मज्झिमनिकाय तथा हर्षचरित्र एवं राजतरंगिणी में भी मिलता है।

10) निम्न कथनों में से कौन-सा कथन असत्य हैं?

A) सतनामी सम्प्रदाय के लोग भक्ति आंदोलन के संतों के अनुगामी थे
B) सतनामियों में छोटी जातियों के लोगों की संख्या अधिक थी
C) सतनामियों ने फौजदार ताहिर खाँ को पराजित कर नारनौल पर अधिकार कर लिया
D) नारनौल पर अधिकार करने के बावजूद सतनामियों ने किसानों से मालगुजारी नहीं वसूली

Answer : D
Description : सतनामियों का विद्रोह 1672 ई. में हुआ था। इसकी शुरुआत औरंगजेब के एक राजस्व अधिकारी द्वारा जो नारनौल का था, एक किसान को चोट पहुँचाने से हुआ। सतनामियों ने इसे अत्याचार के रुप में लिया और राजस्व अधिकारी के अंगरक्षक को मार डाला। फौजदार ताहिर खाँ जब उन्हें गिरफ्तार करने गया तो उसे भी वे सब परास्त कर नारनौल पर अधिकार कर लिया। उस क्षेत्र में स्वतंत्र सत्ता स्थापित कर कर वसूलने लगे। सतनामी सम्प्रदाय के लोग भक्ति आन्दोलन के सन्तों के अनुयायी थे।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*